SEARCH FOR FUN

Tuesday, 30 May 2017

Friendship love shayari,दोस्ती पे शायरी in hindi

दोस्ती  पे शायरी,मित्रोपे शायरिया ,मैत्रीवर शायरी 

Friendship shayari,दोस्ती  पे शायरी
love hindi shayari,friendship hindi shayari


  • love hindi shayari ,प्यारभारी  शायरी 


IPअपनी खुशीयां लुटा कर उस पे कुर्बान हो जाऊँ, काश कुछ दिन उसके शहर में महमान हो जाऊँ, वो अपना नायाब दिल मुझ को दे दें ...................और फिर वापस माँगे मै मुक्कर जाऊँ और बेईमान हो जाऊँ 

  • दोस्ती पार शायरी ,shayari for friends in hindi


"अपनों को याद करना प्यार हैं,  
गैरों का साथ देना संस्कार हैं,  
दुश्मनो को माफ करना उपकार हैं,  
और आप जैसे दोस्तों को परेसान करना जन्मसिद्ध अधिकार हैं."

  • relationship shayari in hindi ,शायरी  रीश्तोन पे ,hindi love  shayari 


कोई रिश्ता नया या पुराना नहीं होता,  
जिन्दगी का हर पल सुहाना कितना होता,  
जुदा होना तो किस्मत की बात है..
पर जुदाई का मतलब भूलाना नहीं होता

  • प्यार कि शायरी ,hindi shayari on love ,relationship lover shayari in hindi


क्युँ इक पल भी तुम बिन रहा नही जाता,  
तुम्हारा एक दर्द भी मुझसे सहा नही जाता,  
क्युँ इतना प्यार दिया है तुमने,  
की तुम बिन मुझ से जिया नही जाता..।



  • friendship shayari in hindi ,दोस्तो पे शायरी इन हिंदी 



दोस्त जो है साथ फिर डर किस बात का है भला..
कभी कभी बस आप जुदा हो जाते हैं..
हमारे दिल में बस दर्द इस बात का हैं



friendship hindi shayari,true friendship hindi shari,relationship,love


  • प्यार कि शायरी ,hindi shayari on love ,relationship lover shayari in hindi

  • ना जाने क्यों वो हमसे मुस्कुरा के मिलते हैं,  
    अन्दर के सारे गम छुपा के मिलते हैं,  
    जानते हैं आँखे सच बोल जाती हैं,  
    शायद इसी लिए वो नज़र झुका के मिलतें हैं ...

    • friendship shayari in hindi,dosti pe shayari hindi me,love shayari


    मंजिलों से अपनी दूर ना जाना..
    रास्ते की परेशानियों से टूट ना जाना..
    जब भी जरूरत हो जिन्दगी में किसी अपने की..
    हम अपने हैं ये भूल ना जाना


  • प्यार कि शायरी ,hindi shayari on love ,relationship lover shayari in hindi
  • मेरी हर एक अदा में छुपी थी मेरी तमन्ना,  
    तुम ने महसुस ना की ये और बात है,  
    मैने हर दम तेरे ही ख्वाब देखें,  
    मुझे ताबीर ना मिली ये और बात है,  
    मैने जब भी तुझ से बात करनी चाही,  
    मुझे अलफाज़ ना मिले ये और बात है,  
    कुदरत ने लिखा था मुझको तेरी तमन्ना में
    मेरी किस्मत में तु ना थी ये और बात है.


    tags
    love hindi shayari ,प्यारभारी  शायरी ,दोस्ती पार शायरी ,shayari for friends in hindi,relationship shayari in hindi ,शायरी  रीश्तोन पे ,hindi love  shayari ,प्यार कि शायरी ,hindi shayari on love ,relationship lover shayari in hindi,friendship shayari in hindi,dosti pe shayari hindi me,love shayari

    No comments:

    Post a Comment